Diwali kab hai : दिवाली कब है ?

Diwali kab hai: 2023 में दिवाली का पर्व 12 नवंबर 2023 को मनाया जाएगा। इस दिन कार्तिक माह की अमावस्या तिथि है। अमावस्या तिथि दोपहर 2:44 बजे से शुरू हो जाएगी और इसका समापन 13 नवंबर 2023 को दोपहर 2:56 पर होगा। हिंदू धर्म में उदया तिथि के आधार पर ही कोई भी त्योहार मनाया जाता है, ऐसे में दिवाली 12 नवंबर को मनाई जाएगी।

Diwali kab hai

दिवाली कब है ?

Diwali kab hai

दिवाली का पर्व हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है। इस दिन लोग अपने घरों को दीपों से सजाते हैं, पटाखे जलाते हैं, लक्ष्मी-गणेश की पूजा करते हैं और मिठाइयां बांटते हैं। दिवाली का पर्व प्रकाश और अंधकार के बीच संघर्ष के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का भी प्रतीक है। Diwali kab hai

दिवाली का स्वागत कब करेगे: जानिए तिथियों के बारे में

हर साल दिवाली का त्योहार हमें एक खुशहाल और प्रकाशमयी जीवन की ओर ले जाता है। दीये, पटाखे, मिठाई और उपहार देने की परंपरा ने इसे ‘दीपोत्सव’ के रूप में जाना जाता है। इस ब्लॉग आर्टिकल में हम आने वाले दिवाली त्योहार के दिनांक पर प्रकाश डालेंगे।

दिवाली: कब, क्यों और कैसे?

इस खंड में हम दिवाली कब मनाई जाती है, क्यों मनाई जाती है और इसे कैसे मनाया जाता है, इन मुद्दों को विस्तार से समझेंगे। Diwali kab hai

दिवाली: कब होती है

कृष्ण पक्ष की अमावस्या को हिन्दू पंचांग के अनुसार दिवाली मनाई जाती है, जो कर्तिक माह में आती है। लेकिन वर्ष भर में तारीख बदलती रहती है। Diwali kab hai

दिवाली: क्यों मनाई जाती है

दिवाली मनाने के पीछे अनेक धार्मिक मान्यताएं हैं। इसका एक मुख्य कारण श्रीराम की अयोध्या लौटने की खुशी मनाना है। और ऐसा माना जाता है कि दिवाली के दिन विष्णु की पत्नी लक्ष्मी जी अपने भक्तों के घर धन और सुख-शांति की वरदान देने आती हैं।

दिवाली: कैसे मनाई जाती है

भारत में दिवाली मनाने की परंपराओं में विभिन्नता होती है। लेकिन कुछ सामान्य तरीके इस प्रकार हैं:

  1. दीप जलाना और पूजा करना
  2. प्रेमियों को उपहार देना
  3. मिठाई बनाना और घर की सजावट करना
  4. पटाखों का विस्फोट करना
  5. आपसी प्रेम और खुशी के पल बांटना
  6. दिवाली हमें अधिकार देती है कि हम अँधकार से प्रकाश की ओर बढ़ें, और आत्मा की कामनाओं को साकार करें

दिवाली की तारीख हर साल बदलती है

विश्व में सभी देशों में दिवाली का त्योहार उत्साह के साथ मनाया जाता है। आप इसे खुशी के साथ मना सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको जानना आवश्यक है कि दिवाली कब होती है। तो आइए आपको विश्व पंचांग की सहायता से यह बताया जाए। आगामी दिवाली की तारीख है 2023 में दिवाली का पर्व 12 नवंबर 2023 को मनाया जाएगा

अंतिम विचार

दिवाली हमें आपसी प्रेम और सहयोग का उत्सव मनाने देती है। इस दिवाली, हम सभी को अपने प्रियजनों के साथ समय बिताने और आपसी खुशी बाँटने की प्रेरणा देते हैं। इसे एक नयी और प्रकाशमयी शुरुआत के रूप में मनाइए और इसे खुशी और उत्साह के साथ स्वागत करें।

दिवाली का मतलब होता है प्रकाश की जीत अधिकार से, जो हमारी आत्मा को नया जीवन देता है।

हम आशा करते हैं कि आपने इस ब्लॉग में प्रस्तुत जानकारी का अच्छे से लाभ उठाया होगा। हमें आपके सुझाव और प्रश्नों का इंतजार रहेगा। दिवाली की शुभकामनाएं! धन्यवाद।digitallycamera.com Essay on Holi | होली पर निबंध

👉देवतात्मा हिमालयः का संस्कृत में निबंध Click Here
👉पर्यायवाची शब्दClick Here
👉होलिकोत्सवः का संस्कृत में निबंधClick Here
👉तीर्थराज प्रयागः का संस्कृत में निबंधClick Here
👉विद्याधनम् सर्व धनं प्रधानम् का संस्कृत में निबंधClick Here
👉संस्कृत में सभी फलों के नामClick Here
👉प्रत्यय किसे कहते हैं , परिभाषा, प्रकार और भेद उदाहरण सहितClick Here
👉शब्द रूप संस्कृत मेंClick Here
👉संस्कृत में निबंध कैसे लिखेंClick Here
👉इसे भी पढ़ें Click Here
👉लहसन खाने के फायदेक्लिक करें
Sanskrit Counting 1 to 100 digitallycamera.com Essay on Cow In Sanskrit, Janmdin Ki Badhai Sanskrit Me। Sanskrit Nibandh Dhenu. Karva chauth kab hai

2 thoughts on “Diwali kab hai : दिवाली कब है ?”

Leave a Comment